March 3, 2024

Loading

चढ़त पंजाब दी
लुधियाना, 15 दिसंबरः पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देशों अनुसार राज्य में भ्रष्टाचार के विरुद्ध चल रही मुहिम के दौरान आज कराधान और आबकारी अधिकारी ( ई. टी. ओ) सन्दीप सिंह और आबकारी और कराधान इंस्पेक्टर विशाल शर्मा को 5,00,000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि आबकारी और कराधान विभाग लुधियाना के जी. एस. टी. विंग में तैनात मुलजिमों को रविन्द्र कुमार निवासी सराभा नगर, लुधियाना की शिकायत पर गिरफ़्तार किया गया है।
उन्होंने बताया कि शिकायतकर्ता ने विजीलैंस ब्यूरो के पास पहुँच करके दोष लगाया है कि विभाग की तरफ से किये सर्वेक्षण के दौरान उसकी फर्म को लगाया जुर्माना रद्द ( राइट आफ) करने के एवज में उक्त आबकारी अधिकारी 15 लाख रुपए रिश्वत माँग कर रहे थे परन्तु सौदा 12 लाख रुपए में तय हुआ।
प्रवक्ता ने आगे बताया कि इस शिकायत की पड़ताल के उपरांत विजीलैंस ब्यूरो की टीम ने जाल बिछाया और दोनों आबकारी अधिकारियों को दो सरकारी गवाहों की हाज़िरी में पहली किश्त के तौर पर 5,00,000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू कर लिया।
उन्होंने बताया कि दोनों मुलजिमों के खि़लाफ़ भ्रष्टाचार रोकथाम एक्ट के अंतर्गत विजीलैंस ब्यूरो पुलिस स्टेशन, आर्थिक अपराध शाखा, लुधियाना में मुकदमा दर्ज करके आगे कार्यवाही आरंभ कर दी है।
#For any kind of News and advertisment contact us on 9803 -450-601
#Kindly LIke,Share & Subscribe our News Portal://charhatpunjabdi.com
135400cookie-checkविजीलैंस ब्यूरो ने जुर्माना रद्द करने के लिए 5,00,000 रुपए रिश्वत लेते हुये ई. टी. ओ. और आबकारी इंस्पेक्टर को रंगे हाथों किया काबू
error: Content is protected !!