June 17, 2024

Loading

चढ़त पंजाब दी  
लुधियाना, (सत पाल सोनी):लुधियाना स्वर्णकार संघ रजि: प्रधान गोपाल भंडारी ने मुख्यमंत्री पंजाब भगवंत मान के उस निर्णय का जोरदार शब्दो मे स्वागत किया ,जिसमे उन्होंने पंजाब में एक विधायक को सर्फ एक पेंशन ही मिलेगी को एतिहासिक व साहसिक कदम करार दिया । उन्होंने कहा कि अपने आप को आम जनता का सेवक कहने वाले जनता के सेवक नही बल्कि आम जनता पर बोझ बने हुए है जोकि जनता की मेहनत व टैक्सओ से मिलने वाली सरकारी कमाई का बड़ा हिस्सा अपनी पेंशन के तौर पर लेते रहे है ।
मुख्यमंत्री भगवंत मान की विधायको को एक पेंशन स्कीम का किया जोरदार स्वागत 
संघ सिनियर उप प्रधान सुरेश गोगना व जसपिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार के जनता के हित मे उठाये गए इस कदम से हर साल करोड़ो रूपये की बचत होगी और जोकि आम जनता की भलाई पर खर्च होगी । इसके इलावा इन विधायकों व उनके परिवारों को मिलने वाली सुविधाओं को अब खुद ही इन विधायकों को जनता हित मे त्याग  कर एक अच्छा संकेत देना चाहिए ,नही तो उसे भी जल्द बंद करने की अपील मुख्यमंत्री भगवंत मान से की है ।
संघ उप प्रधान रमन गोगना व महासचिव राकेश वर्मा ने कहा कि पंजाब में कई विधायको को 3 से 5 लाख तक हर महीना पेंशन व अन्य सुविधा मिलती रही है । उन्होंने भाजपा सहित देश की सभी राजनैतिक पार्टियों को अपने अपने प्रदेश में जनता के हित के लिए इस कदम को तत्काल लागू करने की अपील की है और प्रधानमंत्री नरिंदर मोदी से संसद में भी ऐसा कानून पास करने की मांग की है कि जिससे जनता के अपने आप को सेवक कहने वालों को सिर्फ एक सीमित पेंशन मिले और उनके परिजनों को मिलने वाली सभी सुविधाएं बंद की जाए । उन्होंने देश की सबसे बड़ी पार्टी व कई प्रदेशों में सरकार में रहने वाली, अपने आपको देश हितैषी पार्टी बताने वाली भाजपा से भी तत्काल एक विधायक एक पेंशन नीति लागू करने की मांग की है । संघ मुख सलाहकार विनोद सहदेव व कैशियर दविंदर वर्मा ने कहा कि अगर दिल्ली में विधायकों को 12 हज़ार पेंशन व सीमित भते मिलते है तो पंजाब में लाखों रुपये व भते क्यों ।
111780cookie-checkविधायक व सांसद जनता के सेवक या जनता पर बोझ :गोपाल भंडारी
error: Content is protected !!