April 9, 2024

Loading

चढ़त पंजाब दी
लुधियाना, 1 जनवरी ( सत पाल सोनी ) : केंद्रीय श्रम एवं रोज़गार राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम ( ईएसआईसी) को पंजाब सरकार से 6 स्थानों पर ईएसआई अस्पताल स्थापित करने का प्रस्ताव मिला है। हाल ही में राज्यसभा में लुधियाना से सांसद (राज्यसभा) संजीव अरोड़ा ने पंजाब में ईएसआईसी अस्पतालों के बारे में प्रश्न पूछा था ।
संजीव अरोड़ा ने पूछा था कि क्या सरकार पंजाब राज्य में और ईएसआईसी अस्पताल स्थापित करने का प्रस्ताव कर रही है, यदि हां, तो उसका विवरण दें। अरोड़ा ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि जिला एसएएस नगर के सेक्टर-66 साहिबजादा अजीत सिंह (एसएएस) नगर, जिला एसएएस नगर के लालडू, जिला पटियाला के राजपुरा, मलेरकोटला जिला के मलेरकोटला , जिला लुधियाना के दोराहा और जिला बठिंडा के बठिंडा में ईएसआई अस्पताल स्थापित करने के लिए पंजाब सरकार से प्रस्ताव प्राप्त हुआ है।
मंत्री ने आगे कहा कि ईएसआई अस्पताल की स्थापना एक निरंतर जारी रहने वाली प्रक्रिया है और यह कर्मचारी राज्य बीमा निगम के मानदंडों के अनुसार एक क्षेत्र में बीमित व्यक्तियों (आईपी) की संख्या पर आधारित है।संजीव अरोड़ा द्वारा कर्मचारियों की तुलना में ईएसआईसी बिस्तरों की कुल संख्या के विवरण के बारे में पूछे गए एक अन्य प्रश्न का उत्तर देते हुए, मंत्री ने ईएसआईसी द्वारा संचालित अस्पतालों में बिस्तरों की कुल संख्या का राज्यवार विवरण (तालिका देखें) प्रदान किया। . “केंद्रीय मंत्री द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के गहन विश्लेषण के बाद, यह देखा गया है कि अखिल भारतीय स्तर पर 2,94,97,640 बीमित व्यक्तियों के पीछे 12,705 बेड स्वीकृत हैं। इस प्रकार, देश भर में प्रति बेड के पीछे 2,322 ईएसआई बीमित कर्मचारी आते हैं”, संजीव अरोड़ा ने कहा।
संजीव अरोड़ा ने बताया कि उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, पंजाब में 12,16,430 बीमित व्यक्तियों के लिए 300 बेड स्वीकृत हैं, जो इंगित करता है कि प्रति बेड के पीछे 4,055 बीमित कर्मचारी हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए, वर्तमान परिदृश्य में सुधार के लिए पंजाब में ईएसआईसी अस्पतालों की बेड क्षमता को तत्काल प्रभाव से दोगुना करने की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि पंजाब की तुलना में 23 राज्य बेहतर स्थिति में हैं।
संजीव अरोड़ा ने कहा, “अब, माननीय मुख्यमंत्री श्री भगवंत मान के नेतृत्व में वर्तमान राज्य सरकार राज्य में नए ईएसआईसी अस्पताल स्थापित करने के मामले को गंभीरता से केंद्र के साथ उठा रही है।” उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रस्ताव को व्यावहारिक रूप मिलता है तो स्थिति में सुधार आएगा। उन्होंने केंद्र से आग्रह किया कि वह पंजाब सरकार द्वारा पंजाब में छह नए ईएसआईसी अस्पताल स्थापित करने के प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार करे।
इसके अलावा संजीव अरोड़ा ने कहा कि लुधियाना में पहले से मौजूद ईएसआईसी अस्पताल 300 बिस्तरों वाला है और इस अस्पताल में बेड क्षमता और अन्य मौजूदा बुनियादी ढांचे को बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह अस्पताल 1970 के दशक में स्थापित किया गया था और इसे अपग्रेड किये जाने की आवश्यकता है क्योंकि इस अवधि में आगंतुकों की संख्या में कई गुना वृद्धि हुई है। इसके अलावा, लुधियाना और इसके आसपास के क्षेत्रों जैसे खन्ना और मंडी गोबिंदगढ़ को औद्योगिक केंद्र माना जाता है। इस अवधि में उद्योगों के विकास के साथ औद्योगिक श्रमिकों की संख्या में कई गुना वृद्धि हुई है।
#For any kind of News and advertisment contact us on 9803 -450-601
#Kindly LIke,Share & Subscribe our News Portal://charhatpunjabdi.com
136430cookie-checkकेंद्र को राज्य में छह नए ईएसआईसी अस्पताल स्थापित करने के लिए पंजाब सरकार के प्रस्तावों पर तत्काल विचार करना चाहिए: संजीव अरोड़ा, सांसद
error: Content is protected !!