June 25, 2024

Loading

चढ़त पंजाब दी
दिल्ली/लुधियाना,( सत पाल सोनी)- PIB मान्यता प्राप्त पत्रकारों में छोटे न्यूज वेबसाइट के पत्रकारों को मान्यता देने के सख्त नियमों के सरकार के फैसले के खिलाफ सवाल उठने शुरू हो गए हैं। वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया ने इसका कड़ा विरोध किया है। मौजूदा गाइडलाइन से बड़े मीडिया घरानो के पत्रकार ही PIB की मान्यता ले सकेंगे। जबकि छोटे न्यूज वेबसाइट के पत्रकारों को इससे महरूम होना होगा।
वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी ने सरकार के कड़े कदम की आलोचना की है। उनके मुताबिक एक तरफ सरकार सोशल मीडिया को बढ़ावा दे रही है। दूसरी तरफ छोटे वेबसाइट के पत्रकारों को कवरेज से रोकना, उन्हें पत्रकार ना मानना, जैसे खबरें वाकई हैरान करने वाली है। भारत सरकार का सूचना प्रसारण मंत्रालय सोशल मीडिया के पत्रकारों को मान्यता देने संबंधी नियम कायदों पर लगा है। दूसरी तरफ पत्रकारों से ऐसा बर्ताव वाकई गलत है। जिसकी वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया कड़े शब्दों में निंदा करती है। वहीं WJI के राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र भंडारी ने सरकार से पूरे मामले में दखल देने की अपील की है।
#For any kind of News and advertisement contact us on   980-345-0601 
118390cookie-checkछोटे न्यूज वेबसाइटो के पत्रकारों को मान्यता देने के सख्त नियमों के फैसले के खिलाफ- वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया ने उठाई आवाज़
error: Content is protected !!